big_451347_1488980392

संतत्व दिवस

संतत्व दिवस     दया की देवी मदर टरेसा को चार सितम्बर को संत की उपाधि दी जायेगी । संत  की उपाधि एक ऐसा सम्मान है! जिसमे पोप द्वारा  यह घोषणा की जाती है कि वह व्यक्ति जिसे उपाधि दी जा रही है । वह ईश्वर की कृपा प्राप्त करने के लिए पूर्ण  सत्यनिष्ठां  के […]

Ganesha ekadant legend,श्री गणेश एकदंत कथा

गणेशोत्सव – श्री गणेश का अवतरण

गणेशोत्सव – श्री गणेश का अवतरण    शिवपुराण में भाद्रपद मास की चतुर्थी को मंगलमूर्ति गणेश की अवतरण-तिथि बताया गया है ! इस पावन अवसर पर प्रत्येक वर्ष गणेशोत्सव मनाया जाता है! गणेशोत्सव हिंदू धर्म का एक प्रसिद्ध त्यौहार है। महाराष्ट्र में गणेशोत्सव की सबसे अधिक धूम देखने को मिलती है। यह त्यौहार पूरे 10 दिनों […]

Shocking Arvind Kejriwal reaction on modi instant note ban decision  500 or 1000 rs revoiceindia

मोदी जी पर केजरीवाल का कटाक्ष

मोदी जी पर केजरीवाल का कटाक्ष     अरविन्द केजरीवाल ने मोदी जी से नाराजगी  जाहिर करते हुए उनपर तीखे कटाक्ष करते हुए  ट्वीट में कहा है  कि दिल्ली में 3 सीट मिलने वाले मोदी जी अब दिल्ली सरकार चलाएँगे? ६७ सीट वाली “आप” अब विपक्ष?। क्योकि दिल्ली चुनाव में “आप” पार्टी को पूरी ६७ सीट पर जीत मिली […]

अमरनाथ धाम की अमरत्व कथा revoiceindia

अमरनाथ धाम की अमरत्व कथा

अमरनाथ धाम की अमरत्व कथा   एक बार देवी पार्वती ने देवों के देव महादेव से अमर होने के रहस्य पूछे! पत्नीहठ के कारण महादेव को  कुछ गूढ़ रहस्य उन्हें बताने पडे़। पौराणिक मान्याताओं के अनुसार, अमरनाथ की गुफा ही वह स्थान है जहां भगवान शिव ने पार्वती को अमर होने के गुप्त रहस्य बतलाए थे, […]

dhruv tara

कहानी ध्रुव तारा बनने की

कहानी ध्रुव तारा बनने की   राजा उत्तानपाद की सुनीति और सुरुचि नामक दो पत्नियां थीं। राजा उत्तानपाद और सुनीति के पुत्र ध्रुव हुए और सुरुचि से उत्तम नामक पुत्र हुए। उत्तानपाद का प्रेम सुरुचि के प्रति अधिक था। एक बार सुनीति का पुत्र  ध्रुव अपने पिता की गोद में बैठा खेल रहा था। इतने […]

भगवान विष्णु ने लिया राम अवतार

क्यों भगवान विष्णु ने लिया राम अवतार

क्यों भगवान विष्णु ने लिया राम अवतार   एक बार देवर्षि नारद को  इस बात का घमंड हो गया कि कामदेव भी उनकी तपस्या और ब्रह्मचर्य को भंग नहीं कर सकते। तब  भगवान विष्णु ने देवर्षि नारद का घमंड तोड़ने के लिए एक लीला रची! जब नारद कहीं जा रहे थे, तब रास्ते में एक नगर में  किसी राजकुमारी के स्वयंवर का […]

तुलसी-शालिग्राम विवाह

तुलसी-शालिग्राम विवाह

तुलसी-शालिग्राम विवाह    हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु नींद से जागते हैं। इसी दिन से हिन्दुओ के शुभ कार्यों जैसे विवाह आदि की शुरुआत  होती है। देवउठनी एकादशी में  तुलसी-शालिग्राम विवाह की परंपरा है। शालिग्राम को भगवान विष्णु का ही एक स्वरुप माना जाता है। तुलसी के पत्तों  के बिना विष्णु […]

कूटनीति और हम

कूटनीति और हम

कूटनीति और हम   कूटनीति मे धर्य और स्थायित्व  की जरूरत होती है । इसलिए तो अक्सर नेता चुनाव से पहले बङे बङे वायदे करते है, और बाद मे भूल जाते है । कूटनीति समय और परिस्थितियों के हिसाब से सत्ताधारियो की दशा व दिशा तय करती है । पल भर के फेर से कुछ […]