history-of-india

जो राष्ट्र पूरे विश्व का गुरु है, उसका इतिहास जानिए।

जो राष्ट्र पूरे विश्व का गुरु है, उसका इतिहास जानिए।   ‘भारतीय ऐतिहासिक कालानुक्रम’ (क्रोनोलॉज़ी) मेरे सर्वाधिक प्रिय विषयों में से है और विगत डेढ़ दशक से मैं इस विषय पर अन्वेषण और लेखन-कार्य कर रहा हूँ। इस सन्दर्भ में सन् 2009 में मेरी पुस्तक ‘भगवान् बुद्ध और उनकी इतिहाससम्मत तिथि’ इलाहाबाद से प्रकाशित हुई […]

price of meat

मांस का मूल्य

💫 💫 💫 🐮 *मांस का मूल्य*💰 मगध सम्राट बिंन्दुसार ने एक बार अपनी सभा मे पूछा : देश की खाद्य समस्या को सुलझाने के लिए *सबसे सस्ती वस्तु क्या है ?* मंत्री परिषद् तथा अन्य सदस्य सोच में पड़ गये ! चावल, गेहूं, ज्वार, बाजरा आदि तो बहुत श्रम के बाद मिलते हैं और […]

Triple talaq

तलाक के बढ़ते मामले

तलाक के बढ़ते मामले    ताजा उपलब्ध आंकड़ों से इतना साफ है कि फैमिली कोर्ट्स में तलाक के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। केरल के फैमिली कोर्ट्स में हर घंटे 5 तलाक हुए। इस तरह देश के सबसे शिक्षित राज्य केरल में हर रोज 120 तलाक हुए। केरल, महाराष्ट्र और कर्नाटक में महिला साक्षरता दर […]

मोदी का बेहद शातिर खेल

मोदी का बेहद शातिर खेल

: मोदी का बेहद शातिर खेल I चीन का ग्वादर पोर्ट जाने का रास्ता बलूचिस्तान होकर जाता है और चीन वहां पर पाक सेना की मदद से जनता को मारने का सिलसिला चला रखा है और साथ ही लगभग 2 अरब डॉलर का निवेश भी कर रहा है । अभी चीन को पता चल रहा […]

कूटनीति और हम

कूटनीति और हम

कूटनीति और हम   कूटनीति मे धर्य और स्थायित्व  की जरूरत होती है । इसलिए तो अक्सर नेता चुनाव से पहले बङे बङे वायदे करते है, और बाद मे भूल जाते है । कूटनीति समय और परिस्थितियों के हिसाब से सत्ताधारियो की दशा व दिशा तय करती है । पल भर के फेर से कुछ […]

Dhritarashtra Gandhari and Pandu Kunti  revoiceindia

क्यों जन्मे थे धृतराष्ट्र अंधे

 क्यों जन्मे थे धृतराष्ट्र अंधे    महाराज शांतनु और सत्यवती के दो पुत्र हुए थे, विचित्रवीर्य और चित्रांगद। चित्रांगद कम आयु में ही युद्ध में मारे गए। इसके बाद भीष्म ने विचित्रवीर्य का विवाह काशी की राजकुमारी अंबिका और अंबालिका से करवा दिया । विवाह के कुछ समय बाद ही विचित्रवीर्य की  बीमारी के कारण मृत्यु […]

E-book and book revoiceindia

ई-बुक और किताब

 ई-बुक और किताब  लगभग एक दशक पहले कागज पर छपी हुई किताबो को श्रधांजलि देनी शुरू कर दी गयी थी। कहा जाने लगा था कि पढाई और अध्यन का भविष्य ई-बुक है। बाजार भी ई-बुक रीडरो से भर गया था । किताबो के ई-संस्करणों की बाजार मे जैसे बाढ सी आ गयी थी । और ईटरनेट ने इसे जैसे उंगलियो का खेल […]

हङताल प्रभावकारी कम revoiceindia

हङताल प्रभावकारी कम – जनजीवन पर प्रभाव ज्यादा

हङताल प्रभावकारी कम – जनजीवन पर प्रभाव ज्यादा    हङताल से और कुछ हो न हो, सामान्य जनजीवन सबसे ज्यादा प्रभावित होता है । हाल ही में हुई मजदुर संघटनो की हड़ताल से बैकिंग, सरकारी कार्यालयो, अस्पतालो, परिवहन सभी बुरी तरह प्रभावित हुआ । बैंको मे काम काज ठप रहा। रोडवेज कर्मचारियों की हङताल ने […]