shame on you axix bank

यह विज्ञापन क्या संदेश दे रहा है समाज को ? #shameAxixBank

अभी पिछले *कुछ दिनों से टी वी के सभी चैंनलों पर Axis bank के होम फाइनेंस का विज्ञापन दिखाया जा रहा है।*जिसमे एक कार में माँ बेटा बैठे हुए आपस मे बात कर रहे है, जिसमे माँ बेटे से उसकी शादी के पहले ही अलग मकान लेने कह रही है, बेटा वजह पूछता है तो […]

price of meat

मांस का मूल्य

💫 💫 💫 🐮 *मांस का मूल्य*💰 मगध सम्राट बिंन्दुसार ने एक बार अपनी सभा मे पूछा : देश की खाद्य समस्या को सुलझाने के लिए *सबसे सस्ती वस्तु क्या है ?* मंत्री परिषद् तथा अन्य सदस्य सोच में पड़ गये ! चावल, गेहूं, ज्वार, बाजरा आदि तो बहुत श्रम के बाद मिलते हैं और […]

hindustan-patanjali-products-addressing-balkrishna-showing-conference_a52f19a8-4473-11e7-ae7e-b192f5497e3d

अगला नंबर बाबा रामदेव का है?

रामदेव बाबा का आजकल कुछ लोग मज़ाक़ उड़ाते है, और बलात्कारी बाबा राम रहीम पर फैसला आने के बाद कुछ लोग उनपे तंज कस रहे है कि अगला नंबर बाबा रामदेव का है कुछ लोग कह रहे है कांग्रेस सरकार के राज में बाबा रामदेव सलवार पहन कर भागे थे ये सच है, बाबा वहाँ […]

#revoiceindia

जब हवाई अड्डा शत्रु के कब्जे में जाने से बच गया!

स्थान -श्रीनगर (कशमीर) समय – 1965 का युद्ध शत्रू तेज गति से आगे बढ रहे थे कशमीर को शीघ्र सैन्य मदद चाहिए थी।    दिल्ली के सेना कार्यालय से श्रीनगर को संदेश प्राप्त हुआ कि किसी भी परिस्थिति में श्रीनगर के हवाई अड्डे पर शत्रु का कब्जा नहीं होना चाहिए।शत्रु नगर को जीत ले ,तो […]

ओछी राजनीति करने वालों को प्रधानमंत्री श्री Narendra Modi का मुंहतोड़ जवाब।

मोदी सरकार का तोहफा

मोदी सरकार का तोहफा    मोदी सरकार ने ई-रिक्शा चलाकर रोजी रोटी कमाने वाले को बड़ी राहत देते हुए उन्हें लाइसेंस से मुक्त कर दिया है!  अब बिना लाइसेंस के ई-रिक्शा और ई-गाड़ियों को चलाया जा सकेगा। यह ई-रिक्शा और ई-गाड़ियों चलाने वालो के लिए एक बड़ी खुशखबरी है! उन्हें इस फैसले से बड़ी रहत मिली […]

मजदूर संघटनो की हङताल के मायने revoiceindia

मजदूर संघटनो की हङताल के मायने

मजदूर संघटनो की हङताल के मायने    केन्द्र सरकार की तमाम कोशिशो के बावजूद भी 2 सितंबर को देश भर के मजदूर संघटनो की हङताल  है। बीते समय में सरकार ने न्यूनतम मजदूरी बढाने और केन्द्रीय कर्मचारियों  को बोनस देने जैसी तमाम घोषणाये की है । मजदूर संघटनो की कई मांग जायज भी है । […]

Hanuman Panchamukhi

क्यों और कैसे बने पंचमुखी हनुमान

क्यों और कैसे बने पंचमुखी हनुमान     माँ सीता को रावण के चंगुल से वापस लाने हेतु राम और रावण की सेना के बीच भयंकर युद्ध चल रहा था | रावण की पराजय निकट थी | उसी समय रावण ने अपने मायावी भाई अहिरावन को याद किया, जो माँ भवानी का परम भक्त होने के साथ […]

Festivals of India revoiceindia

भारत के त्यौहार

त्यौहार    आज मनुष्य चाँद पर पहुच गया है ! हम विज्ञान का युग में जी रहे है!  विज्ञानं और तकनिकी के क्षेत्र में एक के बाद  महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल कर रहे है है । जीवन के लगभग सभी क्षेत्रों में नित नए अनुसंधान एवं प्रयोगों के माध्यम से मनुष्य विकास की ओर अग्रसर हुआ […]

Dhritarashtra Gandhari and Pandu Kunti  revoiceindia

क्यों जन्मे थे धृतराष्ट्र अंधे

 क्यों जन्मे थे धृतराष्ट्र अंधे    महाराज शांतनु और सत्यवती के दो पुत्र हुए थे, विचित्रवीर्य और चित्रांगद। चित्रांगद कम आयु में ही युद्ध में मारे गए। इसके बाद भीष्म ने विचित्रवीर्य का विवाह काशी की राजकुमारी अंबिका और अंबालिका से करवा दिया । विवाह के कुछ समय बाद ही विचित्रवीर्य की  बीमारी के कारण मृत्यु […]

conditions of deadbodies revoiceindia

शवो की ऐसी दुर्दशा

जङ होता समाज    अंतिम  संस्कार  जीवन का आखिरी संस्कार है । परिजन मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार  पूरे विधि विधान से करते है । पर मरने के बाद शवो की दुर्दशा के मामले केवल प्रशासन ही नही पूरे समाज बल्कि यूँ  कहे कि पूरी मानवता को शर्मसार कर रहे  है। लावारिस शवो की दुर्गति […]

jail breads revoiceindia

जेल मे रोटिया तो मिलती है

जेल मे रोटिया तो मिलती है     बाहर मिले न मिले, जेल के अंदर कम से कम रोटी मिलने की गारंटी होती है । कुछ लोग तो सिर्फ इसलिए जेल चले जाते है कि कम से कम उन्हें दो वक्त की रोटी तो नसीब होगी। बड़ी जेलो  मे हर रोज हजारो की संख्या मे […]

E-book and book revoiceindia

ई-बुक और किताब

 ई-बुक और किताब  लगभग एक दशक पहले कागज पर छपी हुई किताबो को श्रधांजलि देनी शुरू कर दी गयी थी। कहा जाने लगा था कि पढाई और अध्यन का भविष्य ई-बुक है। बाजार भी ई-बुक रीडरो से भर गया था । किताबो के ई-संस्करणों की बाजार मे जैसे बाढ सी आ गयी थी । और ईटरनेट ने इसे जैसे उंगलियो का खेल […]

हङताल प्रभावकारी कम revoiceindia

हङताल प्रभावकारी कम – जनजीवन पर प्रभाव ज्यादा

हङताल प्रभावकारी कम – जनजीवन पर प्रभाव ज्यादा    हङताल से और कुछ हो न हो, सामान्य जनजीवन सबसे ज्यादा प्रभावित होता है । हाल ही में हुई मजदुर संघटनो की हड़ताल से बैकिंग, सरकारी कार्यालयो, अस्पतालो, परिवहन सभी बुरी तरह प्रभावित हुआ । बैंको मे काम काज ठप रहा। रोडवेज कर्मचारियों की हङताल ने […]