विज्ञान और तकनीकी -घातक भी सिद्ध हो रही है

Science and technology is proving to be revoiceindia
विज्ञान और तकनीकी 
 
आधुनिक दुनिया में एक देश के लिए मजबूत, ताकतवर और अच्छी तरह से विकसित होने के लिए विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में नए अविष्कार करना बहुत आवश्यक है।  इस प्रतियोगी समय में हमें आगे बढ़ने के लिए तकनीकियों की जरुरत है। इसके आभाव में हम और हमारा देश पिछड़ जIयेगा ! विज्ञान और तकनीकी की उन्नति ने लोगों के जीवन को अधिक उन्नत बना दिया है। जीवन शैली  अत्यधिक आसान और सुव्यवस्थित हो गयी है !  तकनीकी उन्नति वहाँ होती है, जहाँ पेशेवर वैज्ञानिकों के द्वारा नए अविष्कार होते हैं, उनका सफल प्रशिंक्षण होता है ! किसी भी देश के लोगों के लिए दूसरे देश के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने के लिए आवश्यक है की हम निरन्तर विज्ञानं और तकनिकी के माध्यम से विकास ही ओर अग्रसर रहे, परिवर्तन की ओर अग्रसर रहे! किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने और लोगों के जीवन को बेहतर करने का मार्ग  तकनीकियों की उचित वृद्धि और विकास से जुड़ा हुआ है।  जीवन के लगभग हर समस्याओं को सुलझाने के लिए आधुनिक उपकरणों की आवश्यकता है! चिकित्सा, शिक्षा, बुनियादी ढांचा, उर्जा निर्माण, पर्यटन, खेल व् सूचना प्रौद्योगिकी और अन्य क्षेत्रों में इसके बिना आगे बदनI संभव नहीं है। विज्ञान और तकनीकी की उन्नति ने एक तरफ लोगों की जीवन-शैली को प्रत्यक्ष और सकारात्मक रुप से प्रभावित किया है!  दूसरी ओर इसने लोगों के स्वास्थ्य पर अप्रत्यक्ष और नकारात्मक प्रभाव भी डाला है। आज हम सब काफी हद्द तक तकनीकियों पर  निर्भर हो गए है। इसका हमारे जीवन पर, स्वास्थ्य पर  दुष्प्रभाव पर रहा है! कई मायनो में विज्ञानं और तकनिकी की उन्नति घातक भी सिद्ध हो रही है! परमाणु बम का अविष्कार इसी का उदहारण है! पल भर में ही जब चाहे किसी भी देश का अनन्त संभव है! इसका बहुत ही भयंकर परिणाम सामने आ सकता है! आवश्यकता यह है की किसी भी चीज का चाहे वो विज्ञानं और उन्नति ही हो, एक सीमा तक ही उपयोग उचित होगा!
loading...