पागल को पागल ही सुधार सकता है..

Rahul-vs-Arvind-vs-Modi

अभी कुछ दिन पहले खुजलीवाल क़ुतुब मीनार पे चढ़ गया.. और धर्मेन्द्र स्टाइल में बोलने लगा

कूद जाऊंगा फांद जाऊंगा मर जाऊंगा..

 

सुषमा जी आई..  और बोली .. खुजली भाई .. बंद करो नोटंकी  निचे आ जाओ..

खुजलीवाल – नहीं.. कूद जाऊंगा फांद जाऊंगा मर जाऊंगा..

 

मोदी जी आये.. और बोले..खुजली आ जा यार निचे..

खुजलीवाल – नहीं  कूद जाऊंगा फांद जाऊंगा मर जाऊंगा..

 

एक एक कर के सब आये पर खुजली नहीं उतरा.. अंत में हुल गांधी कैंची लेकर आया..

और बोला..  उतरता है या काटु क़ुतुब मीनार को निचे से..

 

खुजलीवाल – हीहीही.. मजाक कर रहा था जी..

अभी आता हु निचे..

 

शिक्षा- पागल को पागल ही सुधार सकता है..

 

 

 

loading...