जानलेवा शराब

Fatal alcohol,जानलेवा शराब

जानलेवा शराब

शराब स्वास्थ के लिए हानिकारक है यह बात हम सभी जानते है । और इसका अत्यधिक सेवन जान लेवा भी हो सकता है। इस बात से भी हम वाकिफ है । दुर्भाग्य से इसके बाद भी शराब धडल्ले से बेची और खरिदी जा रही है । इसका कारण भी साफ है शराब कारोबार से राज्यो की सरकारो को राजस्व का एक बडा हिस्सा प्राप्त होता है । अत: मुनाफे की द्रष्टि से देश की सरकार को शराब की बिक्री कम होने या न होने से नुकसान होगा । अत: सरकार शराब बंदी की ओर कदम नही उठाती। दूसरी ओर शराब लोगो के प्रिय व्यसनों मे से एक है । देश का एक बडा तबका इस नशे की गिरफ्त मे है। इसी आड मे जहरिली शराब का कारोबार भी फल-फूल रहा है । गामिण इलाको मे शराब के भटटो पर देशी जहरिली शराब बनायी और बेची जा रही है । इसका सेवन करके हर साल कितने ही लोगो की जान चली जाती है । और जब मौत के चलते परिवारो द्वारा अवैध रूप से चल रहे इन शराब के भट्टो और ठेको के विरोध प्रदर्शन और तोडफोड का मामला प्रकाश मे आता है! तब आननफानन मे इन शराब के भट्टो और ठेको को बंद करा दिया जाता है । और पुलिस कार्रवाई शुरू हो जाती है । और फिर कुछ दिनो बाद स्तिथि वही हो जाती है । पहले की तरह ही अवैध रूप से चल रहे इन मौत के कारखानो का गन्दा खेल शुरू हो जाता है । और पुलिस प्रशासन  मूक दर्शक बना देखता रहता है । इस जहरिली शराब के  गोरखधंधे से न जाने कितने परिवार बिखर जाते है । पर कोई इनकी सुध लेने वाला नही होता । इसमे दोष केवल शासन का ही नही है! दोष उन लोगो का भी है जो इस जान लेवा शराब के काले धंधो को चलाते है और इसमे बनी शराब का शौक से सेवन करते है । और फिर इसका दंश  भी  उन्हें ही झेलना पडता है !

loading...