बाल श्रमिक

Child Labour revoiceindia
बाल श्रमिक  
 
बाल श्रमिक अथवा बाल मजदूरी हमारे देश की गंभीर समस्या है ! कम उम्र में ही बालको को काम पर लगा दिया जाता है!  इसके फलस्वरुप इन बच्चो का  जीवन अंधकारमय हो जाता है! इन बच्चो  को अवसर ही नहीं मिलता की वह अपने जीवन को सही दिशा दे सके ! उन्हें अवसर नही मिलता की वह पढ़ लिख कर अपना विकास कर सके ! उनका जीवन बस मजदूरी और अन्य कामो को करने में  ही निकल जाता है ! काम का बोझ से और लोगो की फटकार सुन सुन कर इनका बचपन पूर्णते नष्ठ हो जाता है ! बाल श्रमिको का शोषण आम बात है! उन्हें काम के कम पैसे दिए जाते है और दुगना काम उनसे लिया जाता है ! कुछ बोलने पर उनके साथ अभद्र व्यहवार किया जाता है! उन्हें पीटा जाता है ! ऐसे  बच्चे  जीवन के इसी अंधकार में बड़े हो जाते  है ! जब यह गरीब बच्चे अन्य बच्चॊ को स्कूल जाता देखते है अच्छा पहनते हुए, अच्छा खाते हुए देखते है तो उनमे हिन् भावना और  कुण्ठा की भावना घर  कर जाती है ! ऐसे बच्चो का बौद्धिक विकास नही हो पता ! कुछ बालक गलत रास्ता आपनi लेते है ! पड़े लिखे संपन्न लोगो के लिए उनके मन में घृणा  का भाव उत्पन्न हो जाता है ! इनमे से ही कुछ भटके हुए बालक गलत संपर्क मे आ कर अपराधी बन जाते है ! जिसके  कारण इनका आगे  का जीवन भी नष्ट होने के कगार पर पहुच जाता है! बाल मजदूरी एक अभिशाप है ! जो बच्चो  के जीवन को नष्ठ कर देती है, उन्हें पथ भ्रष्ठ कर देती है! हमारे देश में बाल मजदूरी अपराध है! १४ साल से कम उम्र के बच्चो से काम करवाना गैर क़ानूनी है! ऐसे लोगो के पकड़े जाने पर सजा का प्रावधान है! लकिन इस पर सख्त कानून का आभाव है ! हम अपने  आस पास ही कितने बच्चॊ को मजदूरी या अन्य कामो में लिप्त देखते है! इनके माता पिता पैसे के लिए अपने बच्चो से काम करवाना शुरू कर देते है ! गरीबी और परिस्तिथि  भी इसके लिए जिम्मेदार होती है ! इन छोटे बच्चो  का भविष्य बचाने के लिए सरकार के साथ साथ हम सभी को प्रयास करना होगा क्योकि इन बालको पर  ही हमारा देश का भविष्य टिकi है !
loading...