केजरीवाल का बस चले तो कर दे देश का बंटाधार

arvind kejriwal revoiceindia 1
 केजरीवाल का बस चले तो कर दे देश का बंटाधार 
 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल चाहते है की प्रधानमंत्री मोदी देश के किसानों का कर्जा माफ़ कर दे !  उनका यह सुझाव पूरी तरह से वोटबैंक से प्रेरित प्रतीत होता है!   केजरीवाल चाहते हैं कि केंद्र सरकार पूरे देश के किसानों का कर्जा माफ़ कर दे और सारा भार खुद उठाए। वह  कहते कि अगर मोदी ये काम कर दें तो देश के सभी किसान उनकी जय जय कार करेंगे। केजरीवाल का बस चले तो मोदी से कहे कि वह सब कुछ ही  फ्री कर दे ! ताकि पांच साल बाद देश का सब कुछ ख़त्म हो जाए और सब कुछ बर्बाद हो जाए क्योंकि में देश के विकास के लिए सरकारी खजाने में एक भी पैसा नहीं बचेगा!  देश के सभी किसान यह सोचकर और कर्जा लेना शरू कर देंगे कि उनका कर्जा मोदी जी माफ़ कर देंगे और उन्हें कर्जा वापस नहीं करना पड़ेगा। गरीब किसानों तो बैंको से कर्ज लेते ही नहीं, उन्हें इतनी जानकारी ही नही होती! उन बेचारो को तो साहूकारों से मोटे ब्याज पर कर्ज लेना पड़ता है जो उनकी आत्महत्या का कारण बनता है! अगर सभी किसानों का कर्जा माफ़ कर दिया जायेगा तो मोदी सरकार के पास विकास के लिए पैसे ही नहीं बचेंगे, ऐसे में डेवलपमेंट के सभी काम रुक जाएंगे ! केजरीवाल का बस चले तो अपने बेतुके सुझiव दे दे कर देश का बंटाधार करवा दे !   
loading...